पंजाब सरकार किसानों और किसान जत्थेबंदियों के साथ हमेशा चट्टान की तरह खड़ी है – विजय इंदर सिंगला

0
7

(चंडीगढ़) केंद्र सरकार द्वारा पास किये तीन किसान विरोधी खेती बिलों के खि़लाफ़ चल रहे बड़े किसान आंदोलन में शिरकत करते समय मृतक मानसा के गाँव खियाली चहलां वाली के किसान स्व. श्री धन्ना सिंह भोग और अंतिम अरदास के मौके पर पंजाब सरकार द्वारा कैबिनेट मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने शामिल होते हुये दिवंगत आत्मा को श्रद्धा के फूल भेंट किये। उन्होंने इस मौके पर पंजाब सरकार की तरफ से पीडि़त परिवार को पाँच लाख रुपए की वित्तीय मदद का चैक भी सौंपा जो कि मृतक किसान की धर्मपत्नी श्रीमती मनजीत कौर, भाई और बच्चों ने प्राप्त किया।

इस मौके पर पीडि़त परिवार के साथ गहरी हमदर्दी का प्रगटावा करते हुये श्री सिंगला ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार राज्य के किसानों, किसान जत्थेबंदियों और उनके परिवारों के साथ चट्टान की तरह खड़ी है। उन्होंने कहा कि गाँव खियाली चहलां वाली के पाँच योद्धाओं ने पहले देश के आज़ादी संग्राम में अपनी शहादत दी थी और अब किसान स. धन्ना सिंह किसान हकों के लिए शहीद हो गए हैं। उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि पंजाब सरकार मृतक किसान के बच्चों की मानक शिक्षा और दोनों जख़़्मी किसान वीरों श्री बलजिन्दर सिंह और श्री जगतार सिंह के इलाज के लिए भी पूरी तरह वचनबद्ध है।

कैबिनेट मंत्री श्री सिंगला ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से पहले दिन से ही किसानों और किसान जत्थेबंदियों की तकलीफ़ों को दूर करन के लिए और मोदी सरकार की तरफ के पास किये गए काले कानूनों खि़लाफ़ ज़ोरदार ढंग के साथ पैरवायी की गई है। उन कहा कि पंजाब, देश का पहला सूबा है जहाँ तीनों ही काले कानूनों को रद्द किया गया और साथ ही के साथ नया कानून बनाया गया जिस के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति जो एम यह पी से कम मूल्य पर खरीद करता है तो उस विरुद्ध केस दर्ज किया जायेगा और तीन साल तक की सजा होगी।

कैबिनेट मंत्री श्री सिंगला, जो कि पंजाब सरकार और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ़ से दुख की घड़ी में पीडि़त परिवार को हौंसला देने के लिए पहुँचे थे, ने गाँव निवासियों की अन्य माँगों को पूरा करने का भरोसा भी दिया। उन्होंने नाबार्ड की तरफ़ से सडक़ को चौड़ा करवाने, सरकारी प्राईमरी स्कूल को मिडल स्कूल का दर्जा देने का ऐलान किया और पार्क बनवाने सम्बन्धी प्रशासन के द्वारा सरकार को प्रस्ताव भेजने की भी हिदायत की।

इस मौके पर पूर्व विधायक अजीतइन्दर सिंह मोफऱ, ऑफिस इंचार्ज, यूथ कांग्रेस चंडीगढ़ संदीप भुल्लर, चेयरमैन जि़ला परिषद बिक्रम सिंह मोफऱ, चुसपिन्दर सिंह चहल, अरशदीप सिंह गागोवाल, कुलवंत राय सिंगला, पप्पी मान, मनजीत सिंह धनेर, जगराज सिंह बरेटा, विनोद सिंगला, रमेश टैनी समेत बड़ी संख्या में किसान जत्थेबंदियों के नेता, राजनैतिक नेता और गाँवों के लोग भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here