किसान करें कद्दूवर्गी सब्जियों की उन्नत खेती : वैज्ञानिक बता रहे हैं किसानों को खेती का तरीका

0
5

(रायपुर) किसान इस समय अगर नई फसल लगाने के बारे में सोच रहे हैं। लेकिन इस बात को लेकर असमंजस में है कि वे किस तरह की खेती या किस फसल की बुवाई कर सकते है। ऐसे समय में कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को माह जनवरी में कद्दूवर्गी खेती के तरीकों की जानकारी दी जा रही है। किसान जनवरी माह में कद्दूवर्गी सब्जियों की बुवाई कर सकते है।

कद्दूवर्गी सब्जियों की बुवाई साल में दो बार की जाती है। इसमें जनवरी-मार्च और जून-जुलाई का समय उपयुक्त होता है। कद्दूवर्गी सब्जियों की बिजाई पॉलीहाउस में भी दिसम्बर-जनवरी में की जा सकती है। इस वर्ग की सब्जियों की मांग भी साल भर बाजार में रहती है। कद्दूवर्गी सब्जियों में बीज की मात्रा-किसान चार से पांच किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से बीज ले सकते है। कद्दूवर्गी सब्जियों में उर्वरक और खाद इस तरह की बेल वाली सब्जियों में खेत की तैयारी के समय 15 से 20 टन प्रति हेक्टेयर गोबर की खाद, 80 किलोग्राम फॉस्फोरस और 50 किलोग्राम पोटाश की जरूरत पड़ती है। 
    

कद्दूवर्गी सब्जियों में बीज बुवाई-इन सब्जियों के लिए खेत में लगभग 45 सेंमीमीटर चौड़ी और 30 से 40 सेंमीमीटर गहरी नालियां बना लें। इसके बाद एक नाली से दूसरी नाली की दूरी फसल की बेल की बढ़वार के मुताबिक यानी लगभग 1.5 मीटर से 5.0 मीटर तक रखें। बुवाई से पहले नालियों में पानी लगा दें, जब नाली में नमी की मात्रा बीज बुवाई के लिए उपयुक्त हो जाए तो बुवाई की जगह भुरभुरी मिट्टी में लगभग 0.50 से 1.0 मीटर की दूरी पर बीज बुवाई कर दें। कद्दूवर्गी सब्जियों में सिंचाई प्रबंधन-फसल में जरूरत पड़ने पर समय-समय पर पानी का प्रबंध किसानों को करते रहना चाहिए। सिंचाई के साथ ही निराई-गुडाई भी करते रहना चाहिए। समय पर कीट प्रतिरोधी किस्मों की बुवाई करें।

कद्दू वर्गीय सब्जियों के खेत को खरपतवार व फसल अवशेषो से मुक्त रखें। खेतो में नीम के बीजों के पाउडर या नीबौली के पाउडर का छिड़काव करते रहना चाहिए। अंकुरण के तुरंत बाद भूमि में 3 से 4 सेमीमीटर की गहराई पर पौधे की जड़ो के पास 7 किलोग्राम कार्बोफ्यूरोन 3 जी प्रति हेक्टेयर डालें व सिंचाई कर दें या 375 ग्राम कार्बरिल 50 डब्ल्यूपी को 250 लीटर पानी में घोल बनाकर जड़ो पर छिड़काव करें। फल मक्खी से ग्रसित फलों को एकत्रित कर नष्ट कर देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here