राष्ट्रीय कृषि मेला: बाड़ी विकास की ओर बढ़ा लोगों का रूझान

0
8

(रायपुर) राजधानी रायपुर के फल सब्जी मंडी बाराडेरा प्रांगण में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय कृषि मेला में छत्तीसगढ़ सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरुवा, घुरुवा व बाड़ी में से एक बाड़ी योजना का यहां पर जीवंत प्रर्दशन मुख्य आकर्षण का क्रेंद्र बना हुआ है। राज्य सरकार की सुराजी गांव योजना के तहत कृषि की लागत को कम करने के साथ ही बाड़ी के माध्यम से किसान अधिक सब्जी पैदा कर आर्थिक रूप से मजबूत करने केे तरीकों को दिखलाए और सीखलाए जा रहे हैं।
  

छत्तीसगढ़ सरकार की चार चिन्हारी सुराजी गांव योजना के अंतर्गत उद्यान विभाग का यहां पर बड़ा स्टॉल लगा हुआ है। स्टॉल में प्रदेश सरकार की प्राथमिकता वाली बाड़ी योजना में लौकी ,कुम्हड़ा मेथी, पालक, कुसुम, सफेद चेच, प्याज, भटा, मिर्च, फूलगोभी, पत्तागोभी, बरबट्टी की सब्जी पंक्तीबद्ध तरीके से लगी हुई है। इसके साथ ही बाड़ी में मुनगा, अमरूद, आम, चीकू, बेर, नींबू के फलदार पौधे भी लगाए गए हैं। स्टॉल में बाड़ी के कचरे से वर्मी कम्पोस्ट एवं नाडेप टैंक से जैविक खाद तैयार करने का तरीका दिखाया गया है।

बाड़ी योजना से उत्पादित टमाटर, भटा, हरी मिर्च, बरबट्टी, सेम, मूली, गोभी, केला, ककड़ी, प्याज एवं लहसुन, अदरक, कोचई, पपीता को जीरो एनर्जी कूल चेम्बर में रखा गया है। उद्यान विभाग के द्वारा बाड़ी में किसान किस प्रकार बारहमास ताजी एवं हरी सब्जी कम लागत में उत्पादन कर खेती के साथ बाड़ी में अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकते है। इस स्टॉल में बड़ा ही सुन्दर ढंग से देखा जा सकता है।   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here