राजीव गांधी किसान न्याय योजना बनी किसानों का सहारा

0
36

(रायपुर) प्रदेश सरकार की ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना‘ राज्य के किसानों के लिए मददगार साबित हुई है। जशपुर जिले के फरसाबहार ब्लॉक के ग्राम दाईजबहार के 52 वर्षीय किसान श्री रामकिशुन मांझी के लिए कोरोना संकट काल में यह योजना बड़ी राहत लेकर आई है। रामकिशुन को इस योजना के तहत लगभग 66 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि मिलेगी। पहली किश्त के रूप में 16 हजार रूपए मिलने से उत्साहित रामकिशुन खरीफ की तैयारी में जुट गए हैं। रामकिशुन ने बताया कि उनके नाम पर करीब 7 एकड़ पैतृक कृषि भूमि है। परिवार के भरण-पोषण का जरिया खेती किसानी ही है। राजीव गांधी न्याय योजना से मिली प्रथम किश्त की राशि से अपनी दो एकड़ की बाड़ी में आलू, प्याज, लहसुन, मिर्च की खेती के सपने का साकार करने में जुट गए हैं।
    

कृषक रामकिशुन ने बताया कि वे खरीफ के समय में धान के साथ ही मूंगफली, अरहर, उड़द जैसे दलहन एवं तिलहन फसलों की खेती भी करते है एवं रबी फसल के समय इस बार मक्का एवं गन्ना जैसे नगदी फसलों की खेती करने की इच्छा है। श्री रामकिशुन ने बताया कि वर्तमान समय में जब पूरा देश संकट के दौर से गुजर रहा है ऐसी स्थिति में छत्तीसगढ़ शासन ने किसानों की समस्याओं को समझा और लॉकडाउन की कठिन परिस्थिति में राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू कर किसानांे को सीधे मदद पहुंचाई हैं। किसान न्याय योजना किसानों के लिए सहारा बन गई है। किसानों के हित की रक्षा के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना लागू करने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार जताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here