कर्जमाफी से श्री छन्नू को मिली राहत

0
8

(रायपुर) राज्य शासन की कृषि ऋण माफी योजना से दूरस्थ इलाके के लघु-सीमांत किसानों को राहत के साथ ही घर-परिवार को खुशहाल रखने में मदद मिली है। वहीं बेहतर ढंग से खेती-किसानी करने प्रोत्साहन मिला है। दंतेवाड़ा जिले के गीदम तहसील अंतर्गत दूरस्थ ग्राम आलनार निवासी किसान श्री छन्नू ने कर्जमाफी की राशि से खेत मरम्मत कार्य और मेड़ बनाने के लिये लगाया। जिससे खरीफ सीजन अच्छा उत्पादन होने की सम्भावना है।

अभी हाल ही में लैम्पस सोसायटी फरसपाल में खरीफ फसल के लिये फसल ऋण लेने आये श्री छन्नू ने बताया कि बीते साल खरीफ फसल के लिये 40 हजार रुपये फसल ऋण सहकारी समिति से लिया था। इस ऋण राशि को धान बेचकर जमा करने सोचा था। इस दौरान राज्य सरकार ने किसानों के कृषि ऋण माफ करने का निर्णय लिया और कृषकों की  कृषि ऋण माफ कर दी।

इस कर्जमाफी से छन्नू को बड़ी राहत मिली तथा उसने इस ऋण माफी की राशि से खेत का मरम्मत करने सहित मेड़ बनाने का निर्णय लिया। श्री छन्नू ने बताया कि 40 हजार रुपये ऋण माफ होना एक निर्धन किसान के लिये सपने देखने जैसा है। सरकार की इस संवेदनशील पहल से वह खेत का मरम्मत कराया है और मेड़ भी बनाया। जिससे अब खरीफ फसल में अच्छा उत्पादन मिलने की प्रबल संभावना है। छन्नू इस दिशा में पूरी लगन और मेहनत के साथ खेती-किसानी में जुट गया है।

छन्नू ने राज्य सरकार के ढाई हजार रुपये समर्थन मूल्य पर धान खरीदी को किसानों के लिये फायदेमंद साबित करते हुए बताया कि  सरकार के इस निर्णय से किसानों को उनकी गाढ़ी कमाई का पूरा लाभ मिला है। करीब 5 एकड़ कृषि भूमि का स्वामी छनू खरीफ सीजन में एचएमटी, 1010 और देशी सफरी धान की पैदावार लेने के साथ मरहान भूमि में उड़द एवं कुल्थी की खेती करता है।
 
श्री छन्नू ने बताया कि वह परम्परागत तरीके से स्थानीय गोबर खाद और वर्मी कम्पोस्ट खाद के जरिये जैविक खेती कर रहा है। उसने कहा कि विगत वर्ष उत्पादित 38 किं्वटल धान में से 20 किं्वटल धान समर्थन मूल्य पर लैम्पस में बेच दिया और इस राशि का उपयोग मकान मरम्मत कार्य में लगाया। इसके साथ ही अपने एक रिश्तेदार को शादी के लिये मदद दी। उसने बताया कि 11 सदस्यीय परिवार में दो बेटे दो बेटे पुरषोत्तम और योगेश सहित दो बेटियां गंगा एवं जमुना पढ़ाई कर रहे हैं। वहीं दो बेटे तथा एक बहू खेती-किसानी कार्य में मदद करते हैं। इस दौरान लैम्पस मैनेजर फरसपाल खगेश्वर ठाकुर ने बताया कि इस इलाके के किसान लैम्पस सोसायटी से बीज और कृषि कार्य के फसल ऋण लेते हैं। इस खरीफ सीजन में अब तक  क्षेत्र के 39 किसानों ने 31 लाख रुपये फसल ऋण लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here