छत्तबीड़ चिडिय़ाघर के फिर खुलने से पहले दिन 1100 सैलानी पहुँचे

0
17

(चंडीगढ़) पंजाब सरकार के फ़ैसले के अनुसार छत्तबीड़ चिडिय़ाघर आने वाले सैलानियों, कर्मचारियों और जानवरों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 सम्बन्धी प्रोटोकोलों के साथ 10/12/2020 को फिर खोल दिया गया है। चिडिय़ाघर में यहाँ के प्रशासन द्वारा सैलानियों की पड़ाववार ढंग से एंट्री को यकीनी बनाया गया। पहले स्लॉट में लगभग 100 सैलानी चिडिय़ाघर में दाखि़ल हुए। दोपहर 12 बजे के बाद सैलानियों की संख्या बढ़ गई और आज शाम 04.30 बजे तक कुल 1100 सैलानी चिडिय़ाघर में पहुँचे। सैलानियों द्वारा ऑनलाइन बुकिंग सुविधा, वाई-फाई हॉटस्पॉट और बैटरी के साथ चलने वाले कारटों का प्रयोग किया गया।

हालाँकि कुछ सैलानियों को ऑनलाइन बुकिंग, क्यू.आर. कोड और अन्य नकदी रहित लेन-देन का प्रयोग करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा, फिर भी सैलानियों द्वारा अच्छा समर्थन मिला। सैलानियों ने चिडिय़ाघर के साफ़ और प्रदूषण मुक्त वातावरण का आनंद उठाया। इसके अलावा सैलानियों ने मॉम एंड बेबी केयर रूम, कॉफी बूथ, कंट्रोल रूम, सैल्फी प्वाइंट, टच्च फ्री हैंड वॉश और सैनीटाईजऱ डिस्पैंसरज़ आदि नयी सुविधाओं का प्रयोग किया। 

सैलानियों के लिए ऑनलाइन बुकिंग और क्यू.आर. कोड सुविधाओं की औपचारिक शुरुआत के लिए बैंक ऑफ बड़ोदा की टीम चिडिय़ाघर में उपस्थित रही। सीनियर मैनेजर श्री कंवरदीप सिंह ने चिडिय़ाघर प्रशासन के सहयोग से चिडिय़ाघर में सेवा निभाने का मौका मिलने के लिए वन और वन्य जीव सुरक्षा विभाग का धन्यवाद किया। चिडिय़ाघर में सैलानियों के लिए इन्टरनेट और वाई-फाई हॉटस्पॉट सुविधाओं की औपचारिक शुरुआत करने के लिए माईइंटरनैट की टीम भी उपस्थित रही। श्री नवजोत सिंह ने चिडिय़ाघर के प्रशासन के साथ मिलकर काम करने का मौका प्रदान करने के लिए विभाग का धन्यवाद किया।

छत्तबीड़ चिडिय़ाघर के फील्ड डायरैक्टर डा. एम. सुधागर (आई.एफ.एस.) ने कहा कि सैलानियों का समर्थन उत्साहजनक था और शेर के बच्चे अमर, अर्जुन और दिलनूर सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र रहे। उन्होंने यह भी कहा कि सैलानियों ने चिडिय़ाघर में सुरक्षित महसूस किया और उनको सही जानकारी और सही राह दिखाई। 

चीफ़ वाइल्डलाइफ वार्डन श्री आर.के. मिश्रा, (आई.एफ.एस.) ने कहा कि छत्तबीड़ चिडिय़ाघर के फिर खुलने के प्रति सैलानियों का उत्साह उम्मीद से कहीं ज़्यादा था। सैलानियों, चिडिय़ाघर के कर्मचारियों, कामगारों और जानवरों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 सम्बन्धी नियमों के अनुसार सभी सुरक्षा सावधानियों की पालना की गई। इसके साथ ही पंजाब के अन्य चिडिय़ाघर जैसे कि मिन्नी चिडिय़ाघर-पटियाला, मिन्नी चिडिय़ाघर बीड़ तालाब-बठिंडा, मिन्नी चिडिय़ाघर-लुधियाना और डियर पार्क-नीलों भी अगले हफ्ते सैलानियों के लिए खोल दिए जाएंगे।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here