रबी 2019-20 में बीज वितरण में 34 प्रतिशत वृद्धि

0
35

(रायपुर) बीज उत्पादन के क्षेत्र में राज्य को अग्रणी बनाने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे के मार्गदर्शन में बीज निगम उत्तरोत्तर प्रगति की ओर अग्रसर है।

प्रदेश में नई सरकार के गठन के उपरांत प्रदेश के किसानों के हित में विभिन्न नीतिगत निर्णय सरकार द्वारा लिए गए है, जिससे प्रदेश के कृषकों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने हेतु विशेष प्रयास किए जा रहे है। इस वर्ष वर्षा अधिक होने के कारण खरीफ बीज का उत्पादन बढ़ने के साथ-साथ रबी फसलों के क्षेत्राच्छादन में भी वृद्धि हुई है। दलहन-तिलहन फसलों को बढ़ावा देने हेतु रबी 2019-20 में छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम द्वारा विभिन्न अनाज, दलहन तिलहन फसलों के लगभग 1.71 लाख क्विंटल बीजों को किसानों को वितरित किया गया है। जबकि विगत वर्ष 1.27 लाख क्विंटल बीजों का वितरण किया गया था। इस प्रकार इस वर्ष विगत वर्ष की तुलना में 34 प्रतिशत अधिक बीजों का वितरण हुआ।

आगामी खरीफ सीजन में भी प्रदेश केे अधिक से अधिक कृषकों को प्रमाणित उन्नत बीज उपलब्ध कराए जाने के दृृष्टिकोण से विभिन्न फसलों के 9.05 लाख क्विंटल वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य में अधिक से अधिक क्षेत्रों में कृषकों को बीज उत्पादन किए जाने हेतु प्रोत्साहित किया जा रहा है। खरीफ 2019 में लिए गए बीज उत्पादन कार्यक्रम से 6.50 लाख क्विंटल बीजों का उपार्जन किया जा चुका है।

जैव उर्वरक को बढ़ावा देते हुए प्रदेश में ही तरल जैव उर्वरक का उत्पादन किया जा रहा है। जिसका उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष एक लाख लीटर है। जिसमें पी.एस.बी. राईजोबियम एवं एजेक्टोबेक्टर का उत्पादन किया जा रहा है। विगत खरीफ एवं रबी सीजन में 1.16 लीटर कल्चर का उत्पादन एवं वितरण किया गया है। आगामी खरीफ एवं रबी वर्ष 2020-21 में 34 हजार हेक्टेयर रकबे में बीज उत्पादन कार्यक्रम का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिससे लगभग 9 लाख क्विंटल बीज प्राप्त होने की संभावना है।
 
शासन की महत्वकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी के अंतर्गत रबी वर्ष 2019-20 में गौठान ग्रामों के विकास के लिए इन ग्रामों में विभिन्न फसलों का बीज उत्पादन कार्यक्रम लिया जा रहा है। इसी अनुक्रम में रबी 2019-20 में 890 कृषकों के प्रक्षेत्रों पर 2290 हेक्टेयर रकबे में अनाज, दलहन-तिलहन फसलों का बीज उत्पादन कार्यक्रम लिया गया है।

निगम के ‘चैम्प्स‘ प्रकोष्ठ के माध्यम से वर्ष 2018-19 में 42 हजार 270 कृषकों को ड्रिप, स्प्रिंकलर, सिंचाई पम्प एवं कृषि यंत्र प्रदाय किया गया है। वर्ष 2019-20 में अभी तक 23 हजार 528 कृषकों को लाभान्वित किया गया है। चैम्प्स के माध्यम से विभिन्न गौठान ग्रामों में शिविर आयोजित किया जा रहा है। अब तक 73 कैम्प आयोजित किए जा चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here