नवीन धान खरीदी केन्द्र खुलने से किसान खुश

0
8

(रायपुर) छत्तीसगढ़ शासन द्वारा प्रदेश के किसानों को हर संभव सहुलियतें देने की कोशिश की जा रही हैं। किसानों को उनके द्वारा उत्पादित धान उनके निवास या गांव के आस-पास ही बेचने की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य में लगभग 260 नये धान खरीदी केन्द्र इस खरीफ विपणन वर्ष में बनाए गए हैं। इसी कड़ी में बीजापुर जिले के उसूर तहसील अंतर्गत दूरस्थ ईलमिड़ी क्षेत्र के किसान अब खुश हैं कि उन्हे समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करने के लिए 10 से 20 किलोमीटर दूर धान खरीदी केन्द्र जाने से निजात मिल गयी। अब इस क्षेत्र के 14 ग्रामों के करीब 425 किसानों को नवीन धान खरीदी केन्द्र ईलमिड़ी में धान विक्रय करने की सुविधा होगी। यह सब राज्य शासन द्वारा जिले के दूरस्थ ईलाके के किसानों की सुविधा के मद्देनजर ईलमिड़ी में समर्थन मूल्य पर नया धान खरीदी केन्द्र खोलने की स्वीकृति दिये जाने से संभव हुआ है।

ईलमिड़ी निवासी कृषक रोसैया चन्नम अपने गांव में धान खरीदी केन्द्र खुलने से खुशी व्यक्त करते हुए बताते हैं कि धान मिंजाई के पश्चात धान विक्रय करने के लिये 10 किलोमीटर आवापल्ली जाकर अपनी बारी की प्रतीक्षा करने से असुविधा का सामना करना पड़ता था। अब गांव में ही धान खरीदी केन्द्र खुलने से यह दिक्कत दूर होगी। उन्होने बताया कि विगत वर्ष 20 क्विंटल धान समर्थन मूल्य पर विक्रय किया था, जिसकी करीब 36 हजार 300 रूपए राशि सीधे बैंक खाते के माध्यम से भुगतान की गयी। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार द्वारा किसानों से 2500 रूपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदने के निर्णय के अनुरूप शेष अंतर की राशि राजीव गांधी किसान न्याय योजनान्तर्गत अभी तक तीन किश्तों में मिली है।

रोसैया चन्नम की तरह ईलमिड़ी के किसान प्रकाश एनेल तथा अर्जुन काका ने अपने गांव में नवीन धान खरीदी केन्द्र खोलने के लिए राज्य सरकार के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए कहते हैं कि ईलमिड़ी धान खरीदी केन्द्र के माध्यम से लंकापल्ली, जिनिप्पा, आईपेंटा, एंगपल्ली, सकनापल्ली, मुजालकांकेर, सेमलडोडी, पेरमपल्ली, भट्टीगुड़ा, फरसापल्ली, रगईगुड़ा, गुबलगुड़ा एवं गुपकोंटा जैसे दूरस्थ ग्रामों के किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए सहूलियत होगी। ज्ञातव्य है कि राज्य शासन के निर्णयानुसार खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के तहत् समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन 1 दिसम्बर से शुरू होगी। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए पंजीकृत किसानों को 27 नवम्बर से टोकन जारी किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here