शासन की अल्पकालीन कृषि ऋण माफी योजना : किसान कुलेश्वर ने कहा अब नहीं हैं वे कर्जदार

0
40

(रायपुर) मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा किसानों के कर्जमाफी की घोषणा के पश्चात् गरियाबंद जिले के किसानों में भी उत्साह का माहौल बना हुआ है। किसान मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते नहीं थक रहे हैं। किसानों का कहना है कि अब वे छत्तीसगढ़िया किसान होने पर गर्व महसूस कर रहे हैं, क्योंकि उनकी पीड़ा को समझने वाला मुख्यमंत्री अब शासन में है।
 

किसानों के कर्जमाफी के मुद्दे पर चर्चा करते हुए गरियाबंद जिल के ग्राम कोदोबतर के किसान कुलेश्वर साहू ने भी उत्साह के साथ बताया कि तीन एकड़ जमीन पर खेती के लिए खाद, बीज और नगद राशि के रूप में 33 हजार रूपये कर्ज लिया था, जो अब माफ हो गया है। उन्होंने बताया कि यह राशि अब खाते में भी आ गया है। अब वे कर्जदार नहीं है। ग्राम धमना   (विकासखण्ड-गरियाबंद) के किसान रायसिंग गोड़ ने कहा कि शासन की इस पहल से मेरा 65 हजार 250 रूपये का कर्ज माफ हुआ है। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि वास्तव में यह किसान हितैषी सरकार है। उन्होंने बताया कि 10 एकड़ भूमि पर वे किसानी का कार्य करते हैं, जिसके लिए बैंक पर आश्रित होना पड़ता है। कर्ज के कारण मन में चिंता रहती थी, लेकिन सरकार के इस निर्णय से मैं और मेरा पूरा परिवार खुश है। उन्होंने बताया कि कर्ज माफी से मिले पैसे से एक नया बोर खनन कराया है, जिससे अब वे अपनी पूरी जमीन पर डबल फसल ले सकेंगे।
 

इसी तरह ग्राम पंचायत मरौदा के आश्रित ग्राम बम्हनी के किसान सुन्दर नेताम ने बताया कि उन्होंने दो एकड़ खेत में खेती किसानी के लिए 18 हजार 500 रूपये जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक से कर्ज लिया था, लेकिन सरकार द्वारा किसानों के हित में लिये गये निर्णय से अब मेरा कर्ज माफ हो गया है। अब इस राशि का उपयोग रबी फसल बोने में लगाऊंगा। अब मुझे पुनः कर्ज लेना नहीं पडे़गा, जिसके लिए मैं सरकार को धन्यवाद देता हूं। 

गरियाबंद के जिला सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी धनराज पुरबिया बताया कि इस वर्ष 2018-19 जिले के आठ शाखाओं के 38 समितियों के माध्यम से कुल 25 हजार 764 किसानों पर 80 करोड़ 85 लाख 59 हजार रूपये का ऋण बकाया था, जिसे अल्पकालिन ऋण माफी योजना के तहत माफ किया गया है। उन्होंने बताया कि सहकारी बैंकों के 12 हजार 770 किसानों की लिंकिंग के माध्यम से 36 करोड़ 85 लाख रूपये कटौती की गई राशि किसानों के बचत खाते में ट्रांसफर कर दी गई है। लीड बैंक अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीण बैंक में जिले में 12 शाखाओं के अंतर्गत 4777 किसानों को 29 करोड़ 38 लाख रूपये का केसीसी ऋण प्रदाय किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here